Horror Story Writing in Hindi | short horror story writing | long horror story writing

5/5 - (1 vote)

Dantakatha offers horror story writing in hindi | short horror story writing | long horror story writing. This is the opportunity to everyone, who can write and have the interest in Reading and writing horror stories.

डरावनी और भूत की कहानियाँ किसको पसंद नहीं होती?

हम सभी को ऐसी कहानियाँ पढ़ने, सुनने और सुनाने का शौक उम्र के हर पड़ाव पर ही रहा है!

वैसे तो आज OTT(over-the-top) का जमाना है, Videos और Films ने हमारे पढ़ने के इस शौक पर डाका ही डाल दिया है! OTT(over-the-top) और FILMS में हमें कई सारी ऐसी फूहड, हल्की और नीरस कहानियाँ देखने को मिलती है जिससे की इन मनोरंजन और रोमांच देने वाली कहानियों से हम ऊबते जा रहे हैं!

इस इतना मनोरंजन देने वाले क्षेत्र में इतनी कमियां होने के कई कारण है जैसे जो कहानियाँ जैसे लिखी जाती है वैसे कही नहीं जाती Director कहानियाँ को ज्यों का त्यों परदे पर लाने में सफल नहीं होता दूसरा कारण होता है अदाकारों की अदाकारी में काफी कमी रह जाना जिससे की फ़िल्म की सीन्स दमदार नहीं बन पाते, लेखन, डायरेक्शन और अदाकारी जब तक इन तीनों का सामंजस्य नहीं बैठता तब तक मनोरंजन होना सम्भव नहीं है इसलिय नतीजा यह होता है कि ऐसे फ़िल्में या कहानियाँ ना तो लोगों को डरा ही पाती हैं और ना ही उनका मनोरंजन कर पाती हैं!

हमारे अनुसार तो आपके और हमारे जैसे डरावनी कहानियाँ पढ़ने और सुनने वालों के लिए इसका एक सीधा और सटीक समाधान है और वो है कि हम किसी अच्छे लेखक की लिखी किताब को पढ़ें

ऐसी किताबें हम या तो लाइब्रेरी में मिलेगी या फिर हम ऑनलाइन भी आर्डर कर सकते हैं मगर यहाँ भी एक समस्या है कि कैसे पता चले कि फलां लेखक की फलां किताब अच्छी है और साथ में इन किताबों की ज्यादा कीमत भी हमें ये जोखिम लेने से रोक देती है!

अब समस्या वहीं की वहीं है कि

  • क्या पढ़ें? 
  • कहाँ से पढ़ें? 
  • कितनी कीमत का जोखिम लें? 

और इन सबके बाद भी वो किताब हमारे Taste को Match कर पाए ये आसान नहीं होने वाला!

Horror Story Writing in Hindi

इसलिय हमने इन सभी समस्याओं को देखते हुए और उनके समाधान के लिए एक वेबसाइट बनाई है जिसमें ना आपको कोई कीमत देनी है, ना कोई खोज करनी है, और आप चाहे तो अपने विचार या अपने अनुभव इस वेबसाइट पर लिखकर बता सकते हैं! 

इस वेबसाइट पर जाकर लोगों द्वारा बताये गए उनके सच्चे अनुभवों को पढ़कर जाने कि कैसे उन्होंने डर के उन क्षणों में जूझकर वहाँ से पार पायी!

2 Earning Sources

ऐसी ही ये हमारी वेबसाइट dantakatha.com है जिसपर आकर आप न केवल लोगों द्वारा भेजे गए उनके सच्चे और डरावाने अनुभव  को पढ़ सकते हैं साथ ही अपने अनुभव हमारी वेबसाइट dantakatha.com लिखकर एक बड़ी धन राशि भी जीत सकते हैं!

अगर डरावनी कहानियाँ पढ़ने के तलबगार है या आपको लोगों के साथ घटी सच्ची घटनाओं को जानने की उत्सुकता होती है या डर के रोमांचित कर देने वाले सफर को काफी Enjoy करते हैं या फिर आपके पास भी कुछ ऐसे अनुभव और किस्से हैं जिसको आप लोगों तक पहुँचा कर उनके रोंगटे खड़े कर सकते हैं या उनकी रूह को काँपने पर मजबूर कर सकते हैं..

तो यह Platform आपके लिए ही है यहाँ आईये और अपने किस्से और अनुभव लोगों तक आसानी से पहुँचा कर छा जाईये साथ में धनराशि जितने के अवसरों का भी पूरा लाभ उठाईये!

हमारे इस platform और website का नाम है dantakatha.com अधिक जानकारी के लिए Website पर आकर देखिये! मुझे पूरा यकीन है आप निराश नहीं होंगे!

इसके साथ-साथ आपको यहाँ यह भी बताते चलें कि हमारी इस वेबसाइट पर आपको न केवल एक बड़ी धनराशि जितने का अवसर मिलेगा बल्कि आप यहाँ अपनी डरावनी कहानियाँ लिखकर और हमसे साझा करके इस क्षेत्र में अपना नाम और नियमित आय का साधन भी बना सकते हैं!

Short Horror Story Writing

हर कहानी की अपनी क्षमता, अपना मसाला और अपना ज़ायका होता है इसलिए हर अच्छा कहानीकार इस बात को भली-भांति समझता है और इसलिय कहानीकार अपनी कहानी की लम्बाई को उस कहानी की क्षमता, मसाला और ज़ायके के हिसाब से पिरोकार ही अपने पाठकों तक लाता है!
कहानी जितनी छोटी होती है उतनी ही जल्दी पाठक उसको पढ़ने का साहस जुटा लेते हैं क्यूंकि कहानी को पढ़ने में जो समय का निवेश होता है उसको करना पाठकों के लिए आसान होता है!

Click Here to Read Short horror Stories on Dantakatha.com

Long Horror Story Writing

ख़ासतौर पर जब बात डरावनी कहानियों की आती है तो एक अच्छे कहानीकार को चाहिए कि वो न केवर किरदारों की बात करे बल्कि वो उस माहौल की भी बात करे जिसमें वो किरदार डर से जूझ रहे हैं उसका सामना करने का साहस जुटा रहे हैं या फिर उस डर के आगे अपने घुटने टेक कर आत्मासमर्पण कर चुके हैं,
कहानीकार को इससे भी आगे बढ़कर कई और पहलुवों पर बात करनी चाहिए जैसे कि कहानी का स्थान और किरदारों का परिचय और इन दोनों की भूमिका, जब तक हम अपने पाठकों से अपनी कहानी के घटनास्थल और किरदारों का परिचय नहीं कराते और एक सशक्त भूमिका से उनका ध्यान अपनी कहानी के साथ नहीं बाँधते तब तक हमारी कहानी औसत दर्जे से आगे नहीं बढ़ सकती और ऐसी बातों का ध्यान रखते हुए जब हम अपने अनुभव और कहानी कहते हैं तो वो भले ही पढ़ने में लम्बी लगें मगर उनकी अपनी सार्थकता होती है जो ऐसी कहानीयों को पूर्ण न्याय देती है और अच्छे पाठकों से उनका कीमती समय निवेश करने को उनको विवश कर देती हैं!

Click Here to Read long horror Stories on Dantakatha.com

www.dantakatha.com/home

Leave a Comment

Earn money

Recent Posts